शास्‍त्रीय संगीत में होली

होली का त्‍योहार प्रेम और रोमांस का त्‍योहार है. प्रेम के सभी भाव होली में छिपे हैं. होली खेलने में और होली के गीतों में छिपे हुए वर्जित प्रेम के भाव भी अक्‍सर प्रकट हो जाते हैं. रोमांस, नखरे, यहां तक कि, कामुकता, व्यंग्य, ईर्ष्या, तड़प और दिल टूटनेेके भाव भी होली के गीतों में भरे हुए हैं.

हिन्‍दुस्‍तानी शास्‍त्रीय संगीत में ठुमरी गायकी का प्रयोग अक्‍सर होली गीतों में किया गया है. अधिकांश गीत बृज भाषा और अवधी में हैं. होरी की ठुमरि‍यां राग खमाज, काफी, देस, परलू, पहाड़ी, भैरवी आदि में गायी गई हैं. इन गीतों में राधा कृष्‍ण की रासलीला का वर्णन अक्‍सर देखने को मिलता है. आइये कुछ महान शास्‍त्रीय गायकों की होरी ठुमरियों का रसास्‍वादन करें

शुरू करते हैं बनारस घराने के पंडित छन्‍नूलाल मिश्रा के प्रसिध्‍द गीत रंग डारूंगी डारूंगी नंद के लालन पे से. राधा कृष्‍ण के साथ होली खेलने के लिये आतुर हैं -

शोभा गुर्टू से सुनिये रंग डारी सारी चुनरिया रे . इस गीत में राधा होली के रंगों के साथ प्रेम के रंगों में भी डूबी हुई हैं -

पंडित कुमार गंधर्व के राग खमाज में गाये इस गीत में राधा रंग खेल कर अब थक गई हैं और कृष्‍ण से कह रही हैं ना मारों भर पिचकारी -

ग्‍वालियर घराने की वीणा सहस्रबुध्‍दे से सुनिये राग अदाना में तीव्र गति की रखना होरी आरी होरी खेलत नंदलाल -

बेगम अख्‍तर की राग ज़ि‍ला काफी में गायी प्रसिध्‍द होरी ठुमरी कैसी ये धूम मचायी कन्‍हैय्या -

बेगम अख्‍तर की ही राग पीलू में गायी एक और ठुमरी होली खेलन कैसे जाऊं -

और अंत में यही ठुमरी सुनिये उस्‍ताद गड़े गुलाम अली खान साहब से राग देस में - होली खेलन कैसे जाऊं -

2

Add Your Comments Here

Comments :

Archana Verma On: 30/03/2021

Wonderful collection Sir ..

Manusya Tiwari On: 30/03/2021

अदभुत मिठास. सजीवता का चित्रण, पारम्परिक भाषाओं का संयोजन बहुत ही सुन्दर रसपान

Manusya Tiwari On: 30/03/2021

अदभुत मिठास. सजीवता का चित्रण, पारम्परिक भाषाओं का संयोजन बहुत ही सुन्दर रसपान

Manjusha Tiwari On: 30/03/2021

Very interesting Excellent pt channu lal ji shobha gurtuji

Manjusha Tiwari On: 30/03/2021

Very interesting Excellent pt channu lal ji shobha gurtuji

Kamini sahu On: 30/03/2021

Nice sir

Kamini sahu On: 30/03/2021

Nice sir

Ragini sangeet On: 30/03/2021

Thank you so much for sharing this! Lots of love and regards

K.kumar On: 29/03/2021

Awesome!wonderful, what a good collection sir u have👍

Chhatresh Taunk On: 29/03/2021

Amazing Collection ❤❤

Gurdev Singh On: 29/03/2021

What a treasure ! Volume is very low. But it is a great endeavour. Please carry on.

MRS. ANURIMA SHARMA On: 29/03/2021

अद्भूत, अद्वितीय, अनमोल प्रासंगिक संगीत विरासत को अनुपम सौंदर्य के साथ संजोकर प्रस्तुत कर हमे भी इसे सुनने और जानने का अवसर दिया आज आपने होली के पावन पर्व पर 🙏🙏💐

Rakesh gupta On: 29/03/2021

अद्भुत कलेक्शन सर, आज की पीढ़ी तो इस रस से वंचित है।

Usha Chandra On: 29/03/2021

EXQUISITE 🙏🙏

राजेश शर्मा On: 29/03/2021

बेहतरीन आपके अद्वितीय संग्रह की तरह आप भी अद्वितीय है .....बधाई,हार्दिक शुभकामनाएं ...

Vidyanand Kamde On: 29/03/2021

आपने होली पर जो गीत संगीत को पिरोया है वो अद्भुत है।मेरा भी प्रयास है कि स्कूलों में काम से काम स्लाइड प्रोजेक्टर हो ही।पेटेंट ऑफिस से पंजीकृत भी है।सस्ता,सुंदर टिकाऊ। स्लाइड्स भी easily तैयार हो सकता है।इतने सारे स्कूल फिर भी आसानी से कम खर्च में।hi- टेक भी।HAAPPY HOLI ! सर!

Kaushal Kishor Mishra On: 29/03/2021

भारतीय गरिमामय होली गीतों को सहेजना की दिशा में आपका प्रयास प्रशंसनीय है।

Vishwamohan mishra On: 29/03/2021

अद्भुत अद्वितीय संग्रहणीय

प्रो.डॉ.आलोक शुक्ला On: 29/03/2021

बहुत ही प्रभावी शोध परख आलेख के साथ आपने उन a आवाजों को प्रस्तुत कर अद्भुत बना दिया है!बहुत बहुत बधाई, सर जी, प्रणाम!

Jeetendra kumar sahu bhanupratappur On: 29/03/2021

बहुत ही सुहावना संगीत

Oman markande On: 29/03/2021

आप सदैव नवाचार एवं रचनात्मकता के स्रोत हैं सर

Narendra Kumar Tiwari On: 29/03/2021

सभी क्षेत्रों में आपके मोटीवेशन हमेशा ऊर्जा, स्फूर्ति एवं तरोताजगी का बेहतर संवहन करता है। सादर प्रणाम। होली महोत्सव की बधाईयाँ।

Visitor No. : 2897681
Site Developed and Hosted by Alok Shukla